First lessons in sanskrit

From Wikisource
Jump to navigation Jump to search

प्रकाशकीय वक्तव्य[edit]

fill up the contents here

विज्ञापन[edit]

Fill up later

[edit]

प्रवेश (‌THE DEVANAGARI ALPHABET) देवनागरी वर्णमाला[edit]

VOWELS स्वर्[edit]

अ आ इ ई उ ऊ ऋ ॠ ऌ ॡ ए ऐ ओ औ ं(अनुस्वर) ः (विसर्ग)

CONSONANTS व्य्ञ्जन्[edit]

Gutturals कण्ठ्य् क् ख् ग् घ् ङ्

‌Palatals ‌तालव्य् च् छ् ज् झ् ञ्

Cerebrals मूर्धन्य् ट् ठ् ड् ढ् ण्

Dentals दन्त्य् त् थ् द् ध् न्

Labials ओष्ठ्य् प् फ् ब् भ् म्

Semi-vowels अन्तःस्थ य् र् ल् व्

Sibilants and Aspirate श् ष् स् ह्

स्वरो के ऊपर लिखे गये रूपो का प्रयोग केवल शब्द-खण्ड्(सिलेबिल्) के प्रारम्भ् मे होता है| 'अ' स्वर प्रत्येक् व्य्ञ्जन मे रहता है और इस्का उच्चारण् ऐसे प्रत्येक व्यञ्जन् के अन्त मे होता है जिस्मे ۱ इस प्रकार व्यक्त किया जाने वाला विराम का चिन्ह नही होता और न कोई दूसरा स्वर अपने संक्षिप्त् रूप मे जुडा होता है| ये दूसरे स्वर जब किसी शब्द-ख्ण्द के आरम्भ् मे नही आते तो निम्नाङ्कित संक्षिप्त् रूप ग्रहण कर लेते है|


Will be filled up later.

Lesson 1 पाठ् १[edit]

1. A sanskrit nout, as it stands in the dictionary is ssaid to be in the crude form.

१. संस्कृत का संज्ञा शब्द जिस रूप मे शब्दकोश मे होता है उसे प्रतिपदिक या 'असिद्ध रूप मे स्थित कहते है|

2. Nouns in the crude form, end either in a vowel, or in a consonant.

२. प्रतिपदिक की अवस्था मे सज्ञा शब्दो का अन्त या तो स्वर् से होता है या व्यञ्जन से|

3. The vowels with which most nouns end are अ a, आ â इ ई उ and ॠ

३ अधिकांश संज्ञाओ के अन्त मे आने वाले स्वर है:- अ, आ, इ, ई, उ, तथा ॠ

4. Nouns are Masculine, Feminine, Neuter," Name of males are masculine, and those of females feminine; but many words are masculien or feminine, which are names neither of males nor of femails. For example, रथ ratha is a masculine; and चिन्ता cintâ 'reflection' is a feminine.

४. सज्ञा शब्द पुंल्लिङ्ग्, स्त्रिलिङ्ग्, नपुंसकलिङ्ग होते है| पुरुषो के नाम पुंल्लिङ्ग और स्त्रियो के नाम स्त्रिलिङ्ग होते है; किन्तु बहुत से ऐसे शब्द भी पुल्लिङ्ग या स्त्रीलिङ्ग जो न तो पुरुषो के नाम है और न स्त्रियो के| उदाहरण के लिए 'रथ' पुल्लिङ्ग है और् 'चिन्ता' स्त्रीलिङ्ग|

5. By adding to, or otherwise changing the crude form of the noun, seven different forms, with different sensses, are obtained. These altered forms are called cases.

५. सज्ञा के प्रातिपदिक रूप के साथ प्रत्यय जोडकर या उन्मे परेइवर्तन् कर्के सात विभिन्न् अर्थ् देने वाले सात प्रकार के रूप बनते है| इन परिवर्तित रूपों को कारक कहते हैं|

6. The 1st case is that in which a noun appears when it denotes the subject spoken of in the sentence. This case is called the Subjective, or, more commonly, the Nominative case.

६. प्रथम कारक वह होता है जिसमें संज्ञा शब्द वाक्य में उक्त कर्क्ता का बोधक होता है| इस कारक को कर्तृप्रधान या अधिक प्रचिलित रूप् में होता हैं|

7. Words which, in the crude form, end in the vowels set down in the No.3,commonly make the Nominative by altering the terminations thus:-

७. जिस शब्दों के प्रातिपदिक रूप के अन्त में ऊपर ३ के अन्तर्गत् दिये गये स्वर आते है उनके प्रायः इस प्रकार विभक्ति के प्रत्यय तो परिवर्तित करके कर्क्ता के रूप बनते है :-

अ a becomes, in the Nominative, अः aḥ

इ i ---------------------------- इः iḥ

ई î ---------------------------- ईः īḥ

उ u ---------------------------- उः uḥ

ॠ ṝ ---------------------------- आ ā

N.B. - Neuter nouns endending in अ make the Nominative in अं.

द्रष्टव्य - जिन नपुंसकलिङ्ग संज्ञाओ के अन्त मे 'अ' होता है उन्का कर्क्ता मे 'अं' हो जाता है|

Exercise 1 - अभ्यास १[edit]

8. Write down the Nominative case of each of the following words both in Devanāgarí & English character.

८ निम्नलिखित शब्दों क कर्क्ता कारक का रूप लिखो :-

VOCABULARY 1 शब्दावली १[edit]

Word Hindi Englins
अश्व् धोडा
इच्छा विचार
आसन [नपु०] बैठने का आसन
अग्नि आग
काक कौआ
माला माला
श्री समृद्धि
गुण विशेष्ता
पितृ पिता
वचन [ नपु०] बोली
चन्द्र चन्द्रमा ‌the moon
देव देवता a god
पूजा पूजा worship
गृह [नपु०] घर a house
धर्म पुण्य merit
वीणा वीणा a lute
बुद्धि समझ understanding
गुरु उप्देशक perceptor
जल पानी water
फल फल fruit
रावण रावण Ravana
वृक्ष पेड a tree
बक बगुला a crane
दुःख दुःख् pain
शत्रु शत्रु an enemy
सभा सभा an assembly
कर्तृ करनेवाला a doer
शिष्य शिष्य a disciple
शृगाल सियार a jackal
कुल परिवार a family
वन [पु०] वन a wood
मतृ माता a mother
पर्व्वत पहाड a mountain
मध्य बीच the midst
हिंसा चोट injury
पत्र [नपु०] पत्र a leaf
पति स्वामि master
धातृ रचना करने वाला a creator
पान्थ् पथिक a traveller
ब्राह्मण ब्राह्मण brahman
तीर [नपु०] तट a shore
नर पुरुष a man
पुत्र बेटा a son
धन [नपु०] सम्पत्ति wealth
मृग हिरण a deer
अनाज food
हरि विश्णु Vishnu
क्रोध क्रोध anger
बाण तीर an arrow
चक्र [न्पु०] पहिया a wheel
मस्तक सिर head
प्रभु स्वामि lord
शक्ति बल power
सर्प साँप snake
भक्त पूजक devotee
दुहितृ पुत्री daughter
समुद्र् समुद्र् the ocean
पुस्तक [नपु०] a book
कन्या लडकी a girl
व्याध्र बाध् a tiger
दातृ देनेवाला a giver
हस्त हाथ the hand
राम राम Rama
शास्त्र [नपु०] शास्त्र a scripture
भूमि पृथ्वि ground
कपि बन्दर a monkey
हुत [नपु०] a sacrifice
पुष्प [नपु०] फूल a flower
कवि कवि a poet
ग्राम गाँव a village
क्रिया कार्य action
रुचि पसन्द relish
पातक [नपु०] पाप sin
विध्या ज्ञान knowledge
मूषिक चूहा a mouse
चौर चोर a thief
बाल बालक a boy
मालिक माली a gardner
आराम उपवन a garden
तारा नक्षत्र a star

Lesson 2. पाठ २[edit]

9. Some final consonants, in the fomration of the Nominative case, are changed thus :-

च् c or श् ś becomes क् k. न् n is dropped, and preceeding vower (if the word is not neuter) is lengthened. र् r is changed to visarga, and the vowel is lengthened.

९. कर्त्ताकारक बनाने में कुछ अन्तिम् व्यञ्ज्नों को इस् प्रकार परिवर्तित कर दिया जाता है :-

च् या श - क् हो जाता है| न् का लोप हो जाता है और उसके पहले आने वाले स्वर को (यदि शब्द नपुंसकल्लिङ्ग मे न हो तो) दीर्घ कर दिया जाता है और स्वर को दीर्घ् कर दिया जाता है|

10. An aspirated letter is changed to the corresponding unaspirated letter.

१०. महाप्राण वर्ण को उसके समरूप अमहाप्राण वर्ण में बदल दिया जाता है|

11. Some final consonants undergo no changed.

११. अन्त मे आने वाले कुछ व्य्ञ्जनो मे कोई परिवर्तन नहीं होता|

Ex‌ercise 2. अभ्यास २[edit]

12. Write down the Nominative case of each of the following words in Devanagari and English characters

निम्नलिखित शब्दो के कर्त्ता कारक के रूप लिखो :-

VOCABULARY 2. शब्दावली २[edit]

word hindi english
वाच् वाणी a word
राजन् राजा a king
हस्तिन् हाथी an elephant
शब्द the word
जगत् संसार the world
दिश् दिशा a side, direction
आत्मन् आत्मा soul
विध्युत् बिज्ली lightining
नामन् [नपु०] नाम a name
चित्रकार a painter